6 Most Common Causes Of Cancer in Hindi कैंसर रोग उत्पन्न होने के 6 मुख्य कारण



मनुष्य का शरीर खरबो कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। ये कोशिकाये जन्म लेती है, अपना कार्य करती है और मर जाती है। कई बार ऐसी स्थिती आ जाती है की कुछ कोशिकाये अनियंत्रित रूप से विभाजित होना शुरू कर देती है, जिसके कारण इन कोशिकाओं की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ जाती है, जिसके कारण एक ठोस पदार्थ बन जाता है, जिसको ट्यूमर कहते है। यह ट्यूमर ही कैंसर होता है। ट्यूमर ठोस या तरल किसी भी रूप में मनुष्य का शरीर में हो सकता है। विभिन्न प्रकार के सरकारी/ए.जी.ओ. संस्थानों के द्वारा किये गये शोध व  सर्वे के अनुसार मनुष्य के शरीर में कैंसर उत्पन होने के मुख्य कारण निम्न हो सकते है -

1. दैनिक  खानपान 
यदि आप प्लास्टिक से निर्मित आइटमस/उत्पादों  में खाद्य सामंग्री का सेवन करते है तब सावधान हो जाये, भारत के प्रख्यात "अखिल भारतीय आयुविरज्ञान संस्थान(AIIMS)" अनुसार प्लास्टिक जैसे ही गर्मी के सम्पर्क में आता है उसमे रसायनिक प्रक्रिया शुरू हो जाती है और प्लास्टिक के केमिकल आपके खाने में मिल जाते है, जो आगे चलकर शरीर में कैंसर बनने का मुख्य कारण बन जाते है। अतः गर्म खाद्य सामंग्री का सेवन भुलकर भी प्लास्टिक से निर्मित आइटमस में नहीं करें। 

2. बॉडी मास इंडेक्स
अनियंत्रित धुम्रपान, तम्बाकु, शराब(अल्कोहॉल) व मांस(मीट) के सेवन से शरीर का वजन असन्तुलित या  फिर बढ़ जाता है। इंसान का वजन उसकी लम्बाई के अनुरूप होना चाहिए, इसको बॉडी मास इंडेक्स (BMI) कहते है।यदि आपका बी.एम.आई. सामान्य है, तब आपका खान-पान संतुलित मात्रा में है, एवं आप कैंसर मुक्त जीवन जी रहे है।   

3. विकिरणों (रेडियेशन)
विभिन्न प्रकार कि विकिरणों (रेडियेशन) भी कई बार कैंसर के लिए उत्तरदायी होती है, निम्न विकिरणों से इंसान को बचना चाहिए -

  1. सूर्य द्वारा उत्सर्जित पराबैंगनी (UV: Ultraviolet) किरणे। 
  2. अस्पताल/अन्य जगहों पर प्रयोग में ली जाने वाली एक्स-रे एवं गामा किरणें। 
  3. परमाणुवीय हथियारों के प्रयोग एवं टेस्टिंग के समय निकलने वाली किरणें। 
  4. मोबाईल फ़ोन एवं टॉवर, अन्य आधुनीक यंत्रों उत्सर्जीत विकरणे।  

4. रेडियोएक्टिव गैस
कई प्रकार की रेडियोएक्टिव गैस वाले क्षेत्र में लंबे समय तक काम करने के कारण भी कैंसर () होने की सम्भावना बढ़ जाती है । 

5. शारीरिक व्यायाम 
यदि आप किसी भी प्रकार का शारीरिक व्यायाम(फिजिकल एक्सरसाइज) नहीं करते है, तब आपके शरीर में अकर्मण्यता आ जाती है, अकर्मण्यता की अवस्था में शरीर की कोशिकाओं का जीवन-चक्र बिगड़ जाता है, जिसका परिणाम कैंसर के रूप में सामने आता है। 

6. लाइफ स्टाइल
सर्वे बताते है कि लंबे समय तक एक ही प्रकार की लाइफ स्टाइल (जीवन-चक्र) के कारण इंसान की मानसिक व शारीरिक विकास में कमी आती है, अतः यात्रायें करें, परिवार एवं अपने चाहने वालों को समय देवें,ताज़ी हवा में साँस लेवें, हँसे एवं जीवन जीने का आनन्द लेवें। इस प्रकार की जीवन शैली से आप हमेशा कैंसर मुक्त रहेगें ।